Effective Letter Writing in Hindi: Some guidelines for effective letter writing

प्रभावी  पत्र लेखन के लिए कुछ आवश्यक दिशा निर्देश

 अच्छा पत्र लेखन, खासकर अंग्रेजी में, प्रतिस्पर्धा के इस युग में, गुणवत्ता की निशानी है. यह एक ऐसी गुणवत्ता है, जो ना केवल व्यवसायिक रिश्तो में बल्कि व्यक्तिगत रिश्ते में काम आती है. आज हमें कदम कदम पर इसकी सहायता की आवश्यकता होती है.

 पत्र का मूल उद्देश्य है संवाद! या एक संदेश वाहन पर निश्चित विचारधारा को किसी तरह से दूसरी ओर पहुंचाती है, इसलिए पत्र लेखन एक  रचनात्मक अभ्यास है. हर एक पत्र के लिए आवश्यक है और शब्दों में काफी  सोच समझ कर लिखना. 

इन्हीं सब शमशाद विषयों को इस पुस्तक के सहारे बिल्कुल आसान कर दिया गया है इसमें से बने बनाए पत्रों का इस्तेमाल किया जा सकता है.

 पत्र कैसे लिखा जाता है उसे कैसे सजाया जाता है लिखने की शैली क्या होनी चाहिए आइए जानते हैं

  • सबसे पहले हम यह देखें कि बेहतर पत्र लेखन के मार्गदर्शक सिद्धांत क्या है. सर्वाधिक महत्वपूर्ण की अंतर्वस्तु जैसी निर्णय चीजें! पत्र क्यों लिख रहे हो और क्या लिखा जाना चाहिए यह बात आपके सामने स्पष्ट होनी चाहिए.
  •  विराम चिन्ह विराम और अनुच्छेद जैसी चीजें हैं जो पत्र को सही प्रारूप और कर देते हैं, इसके लिए एक अच्छे पत्र में इनका होना अनिवार्य है.
  •  इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि एक प्रकार की अभिव्यक्ति एक ही जगह होनी चाहिए अनुच्छेदों में बटा हुआ लंबा पत्र गुस्सा दिलाता है और फिर अनुच्छेदों का प्रारंभ भी देना होगा जो 3 सेंटीमीटर अंदर होना चाहिए.
  • शब्दों का सही सही  चुनाव और सही अभिव्यक्ति पत्रों को लुभावना और पठनीय बनाने में सहयोग देते हैं. यदि कोई अंग्रेजी में विशिष्ट शैली बना पाने में सक्षम हो तो एक धरोहर होगी. पत्र लिखते वक्त फालतू शब्द से बचना चाहिए.
  •  पत्र लेखन का एक और महत्वपूर्ण विचारणीय मुद्दा है कि आप पत्र किसे लिखना चाहते हैं. संबोधित व्यक्ति कोई भी हो सकता है रिश्तेदार, मित्र, होटल का मैनेजर या किसी कंपनी के निर्देशक लेकिन इस बात का खास ख्याल रखना चाहिए कि निश्चित  व्यक्ति से संबंधित हो.
  • एक पत्र कितना लंबा होना चाहिए? असलियत तो यह है कि किसी पत्र के लिए कोई निश्चित दायरा नहीं है इसकी लंबाई विषय वस्तु के अनुसार कितनी भी हो सकती है तो पक्षियों से लेकर अनेक प्रश्न उत्तर भी ध्यान रखना चाहिए कि पत्र किसी कोमल स्वर पर समाप्त हो जाए.

 हमेशा ध्यान रखना चाहिए कि की व्यक्तिगत पत्र आपके व्यक्तित्व को स्पष्ट करता है; औपचारिक पत्र वही करता है, जो आप कहना चाहते हैं और व्यवसायिक पत्र द्वारा व्यवसाय सफलतापूर्वक चलता है. इस तरह कोई भी पत्र लेखन को एक आनंददायक अभ्यास के रूप में आ सकता है

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here